टोपर्स का सम्मान :  वागड संदेश द्वारा 12th Arts टोपर्स का गौरव सम्मान किया जा रहा है ( लिंक पर क्लिक करे )

On

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 12वीं कला वर्ग का रिजल्ट जारी कर दिया है। वागड़ सन्देश के द्वारा 12वी कला संकाय में 80% या 80% से अधिक प्राप्तांक हासिल करने वाले छात्र छात्राओ के गौरव सम्मान किया जा रहा है | सभी टोपर्स को वागड़ सन्देश की ओर से हार्दिक शुभकामानाएं और उज्ज्वल भविष्य की कामना करते है |

12वीं विज्ञानं (science) व वणिज्य (commerce) संकाय के गौरव सम्मान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों की लिस्ट देखे 

 
वागड़ के गौरव सम्मान प्राप्त छात्र छात्राओं के बारे में जाने :

 

वागड संदेश द्वारा टोपर्स का गौरव सम्मान  (8)
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 12वीं कला वर्ग का रिजल्ट जारी कर दिया है। जिसमे डूंगरपुर जिले के बरबोदनिया निवासी चिरायु फलोत पिता त्रिलोक फलोत ने रा.उ.मा. वि. बरबोदनिया से 12th कला संकाय में 81.80% अंक अर्जित कर माता पिता और विद्यालय का नाम रोशन किया है | चिरायु फलोत भविष्य में प्रशासनिक सेवा का लक्ष्य है। चिरायु फलोत पिता त्रिलोक फलोत पेशे से कृषक है और माता लक्ष्मी देवी फलोत गृहणी है। चिरायु फलोत ने बताया कि माता पिता और गुरुजनों के मार्गदर्शन से सफलता मिली है।

 

वागड संदेश द्वारा टोपर्स का गौरव सम्मान  (4)
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 12वीं कला वर्ग का रिजल्ट जारी कर दिया है। जिसमे डूंगरपुर जिले के शिवाजीनगर, डूंगरपुर निवासी दिव्यराज सिंह सिसोदिया पिता अरविन्द सिंह सिसोदिया ने गुरुकुल सेंट्रल एकेडमी, डूंगरपुर से 12th Arts में 86% फीसदी अंक अर्जित कर माता पिता और विद्यालय का नाम रोशन किया है | दिव्यराज सिंह सिसोदिया भविष्य में प्रशासनिक सेवा का लक्ष्य है। दिव्यराज सिंह सिसोदिया के पिता अरविन्द सिंह सिसोदिया और माता उशेन्द्र कुंवर है। दिव्यराज सिंह सिसोदिया ने बताया कि माता पिता और गुरुजनों के मार्गदर्शन से सफलता मिली है।

 

वागड संदेश द्वारा टोपर्स का गौरव सम्मान
राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने 12वीं कला वर्ग का रिजल्ट जारी कर दिया है। जिसमे डूंगरपुर जिले के चिखली निवासी प्रियराज सिंह चौहान पिता कृष्ण सिंह चौहान ने महाराणा प्रताप विद्यालय, सागवाड़ा से 12th कला संकाय में 95% फीसदी अंक अर्जित कर माता पिता और विद्यालय का नाम रोशन किया है | प्रियराज सिंह चौहान भविष्य में प्रशासनिक सेवा का लक्ष्य है। प्रियराज सिंह चौहान पिता कृष्ण सिंह चौहान पेशे से समाजसेवी है और माता भँवर कुँवर गृहणी है। प्रियराज सिंह चौहान ने बताया कि माता पिता और गुरुजनों (विशेष कर महेंद्र सिंह जी भूआसा) के मार्गदर्शन से सफलता मिली है।

Advertisement

Related Posts

Latest News

सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां
गलियाकोट। सिलोही में छह मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर तीसरे दिन शनिवार को श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर दो श्री...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Latest News

Advertisement

Live Cricket

वागड़ संदेश TV