आसपुर में सम्मेद शिखर को तीर्थ स्थल घोषित करने को लेकर रैली, कल डूंगरपुर में होगी महारैली

On

आसपुर | केंद्र सरकार ने पर्यटन और इको टूरिज्म एक्टिविटी पर केंद्र सरकार ने आदेश तो वापस ले लिया है, लेकिन जैन समाज सहित सर्व समाज में इसका विरोध अब भी जारी है। इसे लेकर शुक्रवार को सर्व समाज के तत्वावधान में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति, मुख्यमंत्री के नाम आसपुर एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर सम्मेद शिखर को तीर्थ घोषित करने की मांग की है। ज्ञापन से पहले कई संगठनों सहित सर्व समाज की गणपति मंदिर परिसर में बैठक हुई। जिसके बाद विशाल जुलूस निकाल कर धर्म सभा का आयोजन हुआ।

9466a62f-2d16-422d-9e61-398386acff5d_1672990595860

सरकारों के खिलाफ आक्रोश रैली

आसपुर उपखंड क्षेत्र में सभी जैन धर्मावलंबियों सहित सर्व समाज ने श्री सम्मेद शिखर को लेकर रैली निकाली। रैली गणपति मंदिर से प्रारंभ होकर पुराना बाजार, प्रताप सर्किल, तहसील चौराहा से होते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। रास्ते में बीच-बीच में समाज के लोगों ने सरकारों की तानाशाही, नहीं सहेगा, नहीं सहेगा, नारे लगाकर से अपना आक्रोश व्यक्त किया। जिसके बाद गणपति चौक पर एक धर्म सभा का आयोजन किया गया।

f8a261db-7bbe-42df-a844-7f333951819a_1672990570773

कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष करण सिंह चौहान, हेमेंद्र सिंह करेलिया, समानता मंच के संस्थापक दिग्विजय सिंह चुंडावत, करणी सेना जिला अध्यक्ष रणजीत सिंह फतेहपुरा, प्रवीण भमावत, देवराम मेहता, विनोद मालवी सहित कई पदाधिकारियों ने संबोधित किया। संबोधन में कहा कि सरकारों की कथनी व करनी में अंतर है। एक और मंदिरों के नए नए जीर्णोद्धार कर रहे है। वहीं जैन समाज के तीर्थ स्थल को अय्याशी का अड्डा बना रहे है। जो किसी भी समाज को स्वीकार्य नहीं है। इसे तीर्थ स्थल घोषित किया जाए, वर्ना सर्व समाज सड़क पर उतर कर आंदोलन के लिए मजबूर होगा।

सम्मेद शिखर को तीर्थ स्थल घोषित करने की मांग

आसपुर एसडीएम सुनील झींगानिया को सौंपे ज्ञापन में बताया कि केंद्र सरकार ने पर्यटन इको टूरिज्म एक्टिविटी पर 3 साल पूर्व जारी आदेश को तो गुरुवार को वापस ले लिया, लेकिन जब तक सम्मेद शिखर को तीर्थ घोषित नहीं किया जाता और सम्मेद शिखर को लेकर झारखंड सरकार स्थिति प्रैक्टिकल रूप में सामने नहीं रखेगी, तब तक जैन समाज का आंदोलन जारी रखने की बात कही।

0fc5575d-9a89-4d28-90ef-7ffe8961d1a7_1672990544323

सम्मेद शिखर और मधुबन को मांस, मदिरा बिक्री मुक्त पवित्र जैन तीर्थ स्थल घोषित करने, पर्वतराज की वंदना मार्ग को अतिक्रमण, वाहन संचालन व अभक्ष सामग्री बिक्री मुक्त कर यात्री पंजीकरण, सामान जांच के लिए सीआरपीएफ, स्कैनर, सीसीटीवी कैमरे सहित दो चेकपोस्ट, चिकित्सा सुविधा सहित बनाए जाने की मांग की। इसके अलावा पर्वतराज से पेड़ों की अवैध कटाई, पत्थर का अवैध खनन और महुआ के लिए आग लगाना प्रतिबंधित करने और जैन समाज के गिरनार पर्वत, पालीथाना सहित सभी जैन मंदिरों, तीर्थ स्थलों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है।

इस अवसर पर भोगीलाल जैन, चंपालाल भुखिया, लक्ष्मीचंद सेठ, नरेंद्र जैन, प्रकाश नागदा, कमलेश भूखिया, प्रवीण कोठारी, केशरीमाल रामा, करणी सेना के विक्रम सिंह, गायत्री परिवार से रामचंद्र सहित गोल, खेड़ा आसपुर, रामगढ़ सहित गांवों के कई समाजजन मौजूद रहे।

कल डूंगरपुर में होगी महारैली

​​​​​​​सम्मेद शिखर तीर्थ को लेकर शनिवार को डूंगरपुर के प्रगति नगर मंदिर परिसर में डूंगरपुर जिले की सबसे बड़ी महा रैली का आयोजन होगा। जिसमें सकल जैन समाज सहित कई संगठनों के मुखिया मौजूद रहेंगे।

Advertisement

Latest News

भव्य कलश यात्रा के साथ मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज, प्रतिमाओं की निकली शोभायात्रा भव्य कलश यात्रा के साथ मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव का आगाज, प्रतिमाओं की निकली शोभायात्रा
सागवाड़ा। गोवाड़ी में राम मंदिर प्रतिष्ठा महोत्सव के तहत शनिवार को सर्व समाज द्वारा 551 कलशों और प्रतिष्ठित होने वाली...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Latest News

Advertisement

Live Cricket

वागड़ संदेश TV