देवल में सरकारी कॉलेज खोलकर भुला विभाग, विद्यार्थियो को बैठने तक की व्यवस्था नहीं

विद्यार्थियो ने कलेक्टर के नाम दिया ज्ञापन
On

डूंगरपुर | जिले के देवल में सरकारी कॉलेज खोलकर उच्च शिक्षा विभाग भूल गया है। कॉलेज के विद्यार्थियो के पास बैठने तक की व्यवस्था नहीं है। जिस स्कूल में वैकल्पिक रूप से कॉलेज चलाने के लिए कमरे दिए गए थे उसे स्कूल ने वापस ले लिया है। ऐसे में जगह नहीं होने पर कॉलेज के विद्यार्थी भटकने को मजबूर है। कॉलेज विद्यार्थियो ने कलेक्टर के नाम ज्ञापन देकर राहत पहुंचाने की मांग की है। 

sdafsd

वही देवल सरकारी कॉलेज के विद्यार्थी गुरुवार को डूंगरपुर कलेक्ट्रेट पहुंचे। इस दौरान विद्यार्थियो ने बैठक व्यवस्था की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। वही डूंगरपुर एसडीएम को जिला कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौपा। इस मौके पर देवल कॉलेज के विद्यार्थियो ने बताया की मुख्यमंत्री की बजट घोषणा के अनुरूप डूंगरपुर जिले के देवल में सरकारी कॉलेज इसी सत्र से शुरू किया गया था। कॉलेज चलाने के लिए देवल स्कूल में दो कमरों की व्यवस्था की गई थी। लेकिन वर्तमान में स्कूल के प्राचार्य ने वे दोनों कमरे वापस ले लिए है। उन्होंने बताया की वर्तमान में देवल कॉलेज में 127 विद्यार्थी है। लेकिन कॉलेज के पास न तो कमरे है और न ही विद्यार्थियो के लिए बैठने की व्यवस्था। स्कूल की ओर से कमरे लेकर एक स्टोर दिया गया है लेकिन उसमे 20 ही विद्यार्थी बैठ सकते है। जिसके चलते कॉलेज विद्यार्थियो को पढ़ाई के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। कई बार कॉलेज के प्रिंसिपल व नोडल को भी अवगत किया जा चूका है लेकिन अभी तक कोई समाधान नहीं निकल पाया है।

fgsdg

ऐसे में अब कॉलेज विद्यार्थियो ने डूंगरपुर एसडीएम को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौपा है। ज्ञापन में कॉलेज विद्यार्थियों ने बैठक व्यवस्था करवाने व उनकी पढ़ाई सुचारू रूप से करवाने की मांग की है।

Join Wagad Sandesh WhatsApp Group

Advertisement

Latest News

पर्यावरण संरक्षण : गामडा ब्राह्मणीया में 1356 पौधे लगाने का लक्ष्य पर्यावरण संरक्षण : गामडा ब्राह्मणीया में 1356 पौधे लगाने का लक्ष्य
सागवाड़ा | जिला कलेक्टर एवं मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी डूंगरपुर के आदेशानुसार सघन वृक्षारोपण अभियान की तैयारी के तहत पीईईओ...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Contact Us

Latest News

Advertisement

Live Cricket

वागड़ संदेश TV