नीलकंठ महादेव मंदिर के दर्शन कर लौट रहे डॉक्टर दंपती की कार 6 फ़ीट गहरी पुलिया में पलटी, पत्नी की मौत, डॉक्टर घायल ,मृतका के परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप

On

सीमलवाड़ा।। धंबोला थाना क्षेत्र में मांडली से रास्तापाल रोड पर झाफरा पुलिया पर गुरुवार देर रात को दर्दनाक हादसा हुआ। डॉक्टर  की  कार 6 फ़ीट गहरी पुलिया में गिर गई। हादसे में डॉक्टर की पत्नी की मौत हो गई, जबकि डॉक्टर गंभीर रूप से घायल हो गया, जिसे सीमलवाड़ा अस्पताल में भर्ती करवाया है।घटना के अनुसार रास्तापाल प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डॉ बजरंगसिंह और उनकी पत्नी दुर्गा निवासी दातारामगढ़ जिला सीकर सीमलवाड़ा में रहते है। हरतालिका तीज होने के कारण गुरुवार देर शाम को रास्तापाल में गुजरात बॉर्डर के पास स्थित नीलकंठ महादेव मंदिर के दर्शन करने गए थे। दर्शनों के बाद देर रात को वापस अपने घर सीमलवाड़ा लौट रहे थे। इसी दरम्यान मांडली रोड पर जाफरा पुलिया के पास उनकी कार अनियंत्रित हो गई। हादसे में कार पुलिया से करीब 6 फ़ीट नीचे पानी में जा गिरी। अंधेरा होने के कारण मौके पर बचाव के लिए भी कोई नहीं पंहुचा। डॉक्टर बजरंगसिंह ने गंभीर घायल होते हुए भी हिम्मत जुटाकर बाहर निकले। इसके बाद सड़क पर आकर लोगों को आवाज लगाई। रास्ते से गुजर रहे वाहनधारियो व लोगों ने मदद कर कार में फंसी उनकी पत्नी दुर्गा (35) को कार से बाहर निकाला। इसके बाद दोनों को सीमलवाड़ा अस्पताल में ले जाकर भर्ती करवाया। जहां डॉक्टर ने जांच के बाद दुर्गा को मृत घोषित कर दिया। जबकि डॉ बजरंगसिंह को भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। घटना की सूचना पर धंबोला एसआई रमेश चंद्र कटारा, सरथूना चौकी प्रभारी राजाराम रेबारी समेत पुलिस जाब्ता मौके पर पंहुचे। पुलिस ने शव को सीमलवाड़ा अस्पताल के मोर्चरी में रखवाया है। दोपहर बाद मृतका के परिजन सीमलवाड़ा पहुंचे जिन्होंने घटनास्थल का मौका मुआयना किया। वही हादसे को साजिश का रूप देकर हत्या का आरोप लगाया हैं। मृतका के परिजनों ने आक्रोश जताते हुए कहा कि बेटी की शादी में काफी दहेज दिया गया था जिसके बाद भी डॉक्टर का पेट नहीं भरा, आए दिन बेटी के साथ मारपीट करता रहता था, मानसिक रूप से परेशान करता रहता था। पूर्व मैं भी आपसी समझाइश के बाद पंचों के बीच बेटी को उसके साथ भेजा था। शव को जिला अस्पताल मोर्चरी ले जाया गया जहां शनिवार को मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम होगा। सीआई भैयालाल ने बताया कि मृतका का भाई श्रवण कुमार पुत्र कृष्णा लाल निवासी लोसल, हरिपुरा जिला सीकर ने रिपोर्ट दर्ज करवाई है। जिसमें बताया कि उसकी बहन दुर्गा की शादी 2005 में बजरंग लाल सेवदा के साथ कराई थी। अभी तक इनके कोई भी संतान नहीं है। रिपोर्ट में बताया कि बहन का पति बजरंग लाल को एमबीबीएस कराने उन्होंने खर्चा किया है। शादी के बाद ही बहन दुर्गा को परेशान करता था, मानसिक प्रताड़ित करता था। बजरंग लाल अपनी पत्नी दुर्गा के साथ कोई संबंध नहीं रखता था। वही 7 माह पूर्व चुपके से बजरंग लाल ने तलाक लेने कोर्ट में प्रार्थना पत्र भी दिया था जिसकी सूचना मिलते ही बाद में रिश्तेदारों के समक्ष बजरंग लाल ने माफी मांगी, अपना जुर्म स्वीकार किया था एवं शपथ पत्र बना कर दिया था जिसमें उसने बताया था कि वह कभी दुर्गा के साथ गलत व्यवहार नहीं करेगा, उसकी संदिग्ध अवस्था में मृत्यु होने पर उसकी जिम्मेदारी रहेगी। मृतका के भाई ने बताया कि उसकी बहन दुर्गा को कोई दवा या जहर खिलाकर पानी में डूबा कर मार दिया है एवं हादसे की साजिश रची गई है। जिसकी निष्पक्ष जांच करवाई जाए। दूसरी और मृतका की छोटी बहन की शादी भी उसके  देवर के साथ करवाई है।

Advertisement

Related Posts

Latest News

सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां
गलियाकोट। सिलोही में छह मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर तीसरे दिन शनिवार को श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर दो श्री...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Latest News

Advertisement

Live Cricket

वागड़ संदेश TV