भक्ति एवं गुरु के आदर्शों पर चलकर व्यसन मुक्त रहकर मानव मात्र की सेवा ही जीवन का सबसे बड़ा अध्याय-भगोरा

On

पूर्व सांसद एवं अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व सचिव संत श्री सुरमाल दास सेवा संस्थान डूंगरपुर के संरक्षक ताराचंद भगोरा पहुंचे लसूडिया धाम परम पूज्य गुरु जी को अर्पित की पुष्पांजलि

डूंगरपुर। तपेश्वरी गुरु लसूडिया धाम के गादीपति महाराज परम पूज्य श्री 1008 श्री शंकर दास महाराज के देवलोक गमन होने पर आज धाम पर महाराज श्री का द्वादशा कार्यक्रम एवं श्रद्धांजलि सभा का आयोजन गादीपति के परिजनों द्वारा समस्त मेट, कोतवाल, भक्त ,धोनी धारी, महंत, जनप्रतिनिधियों एवं तपेश्वरी संत श्री सुरमाल दास जी महाराज गादीपति के भक्तजनों एवं सर्व समाज के भक्त जनों द्वारा गुरु जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गई इस दौरान पूर्व सांसद ताराचंद भगोरा ने बताया कि विश्व प्रसिद्ध एवं महान तपेश्वरी गुरु संत सुरमल दास जी महाराज श्री को अंग्रेजी गुलामी के जमाने मैं सवा शेर शिशा पिलाने के बावजूद भी गुरु जी की भक्ति में इतनी शक्ति थी कि अंग्रेजी जमाने की दास्तां भी उनका कुछ नहीं बिगाड़ सकती और भक्ति के सतत मार्ग पर चलकर उन्होंने सृष्टि पर जो भक्ति के मार्ग के पुनीत कार्य के लिए हैं वह अनंत व अखंड पूजनीय हैं गुरु जी द्वारा दिए गए आदेश एवं गुरु जी की भक्ति से आम व्यक्ति अपना जीवन एक आध्यात्मिक एवं धार्मिक पद्धति से यापन कर सकता है इस दौरान पूर्व सांसद ने बताया कि जो व्यक्ति परिवार मास माटी एवं दारू का उपयोग करता है वह कभी भी गुरु का भक्त नहीं कहलाता है क्योंकि गुरु की भक्ति इतनी अटल है कि जो भक्त गुरु जी का भक्त बनता है और बानाधारी होता है तथा गुरु जी की दी हुई आदर्श की किताब को अपने जीवन में उतारता है वह हमेशा ही भवसागर को पार होता है जो परिवार या व्यक्ति मांस माटी एवं दारू का उपयोग करता है वह कभी भी गुरु का भक्त नहीं कहलाता है एवं उसके घर का किसी व्यक्ति को पानी पिलाना भी महापाप कहलाता है इसलिए उस महान संत की दी हुई भक्ति को अपने जीवन में उतारने के लिए हम सभी समाज जन अधिक से अधिक संख्या में गुरु की भक्ति एवं गुरु के दिए हुए मार्ग पर चलकर एक महान समाज की नीव खड़ी करने में सहभागी बने तथा विश्व प्रसिद्ध उस महान संत की पूजा करते हुए विश्व में उनका नाम और रोशन करें यही प्रार्थना,कार्यक्रम के दौरान गुरु के गुरु भक्त पूर्व विधायक शंकरलाल अहारी, डूंगरपुर विधायक गणेश घोघरा, भीलूड़ा गुजरात के विधायक डॉ जोशियला,चोरसी विधायक राजकुमार रोत प्रधान देवराम रोत पूर्व प्रधान लक्ष्मण कोटेड ,84 भक्त मंडल के धुणी धारी अर्जुन महाराज तंबोलिया संत सुरमाल दास सेवा संस्थान डूंगरपुर के अध्यक्ष महेंद्र भगोरा पूर्व सरपंच प्रेमचंद भगोरा, गौतम जी रोत, बद्री प्रसाद , विश्राम जी रोत,शांतिलाल खराड़ी, शंकर कोटेड, नानूराम घोगरा शांतिलाल रोत, विमल प्रकाश डोडियार, रामा भी रोत सहित मेट कोटवाल भक्त जनप्रतिनिधि एवं शिक्षाविद तमाम समाज जन उपस्थित रहे साथी रात्रि को भजन संध्या का आयोजन के साथ-साथ गुरु जी को श्रद्धांजलि अर्पित एवं नव गधी पति का विधि विधान के साथ संत सुरमाल दास जी महाराज के नए गांदी पति के रूप में विराजमान किया जाएगा तथा भक्ति मार्ग को विश्व पटल पर नहीं अलग जगाने के लक्ष्य के साथ संसार में कार्य किए जाएंगे।

Advertisement

Latest News

सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां
गलियाकोट। सिलोही में छह मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर तीसरे दिन शनिवार को श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर दो श्री...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Latest News

Advertisement

Live Cricket

वागड़ संदेश TV