राज्यसभा सांसद हर्षवर्धन सिंह सहित 5 लोगो के खिलाफ कूट रचित दस्तावेज तैयार कर 40 बीघा जमीन हड़पने का मामला दर्ज

On

डूंगरपुर।। जिले के कोतवाली थाने में राज्यसभा सांसद हर्षवर्धन सिंह सहित 5 लोगो के खिलाफ कूट रचित दस्तावेज तैयार कर 40 बीघा जमीन हड़पने का मामला दर्ज हुआ है | वही मामले की जांच अब सीआईडी सीबी करेगी | कोतवाली थाने के सीआई दिलीपदान  ने बताया की शहर के लालपुरा निवासी सलीम ने कोर्ट के इस्तगासे पर राज्यसभा सांसद हर्षवर्धन सिंह, तत्कालीन  डूंगरपुर तहसीलदार, मांडवा खापरडा पटवारी, सरपंच और ग्राम सचिव के खिलाफ धोखाधडी का मामला दर्ज  करवाया है | उन्होंने बताया की इस्तगासे में पीड़ित परिवादी सलीम ने बताया की वर्ष 1965 में डूंगरपुर महारावल  के सेकेट्री अम्बालाल पटेल से उनके पिता पीरवक्ष मेवाफरोश ने 40 बीघा जमीन खरीदी थी और 1985 को  उपपंजीयन कार्यालय में रजिस्ट्री भी करवाई थी | लेकिन सीलिंग एक्ट लागू होने के बाद उनकी जमीन बिलानाम हो गई थी जिसके चलते प्रार्थी का नाम राजस्व रिकॉर्ड में अंकित नही हो सका था | इसके बाद प्रार्थी ने डूंगरपुर  एसडीएम कोर्ट में खातेदारी हक के लिए प्रार्थना पत्र दिया था जिसमे 13 फ़रवरी 2001 को लेंड होल्डर डूंगरपुर तहसीलदार द्वारा राजकीय भूमि बताने पर डूंगरपुर एसडीएम को ने प्रार्थना पत्र खारिज कर दिया था | जिसके बाद प्रार्थी ने राजस्व अपील अधिकारी डूंगरपुर के समक्ष अपील की जिसमे 14 अगस्त 2001 को राजस्व अपील  अधिकारी ने डूंगरपुर एसडीएम कोर्ट के निर्णय को खारिज करते हुए रजिस्ट्रेड दस्तावेजो के आधार पर प्रार्थी को हिस्सेदार काश्तकार घोषित किया था | वही इस निर्णय के बाद डूंगरपुर तहसीलदार के राजस्व मंडल अजमेर में  अपील की थी | जिसमे राजस्व मंडल अजमेर ने तहसीलदार की अपील को खारिज कर दिया था | जिसके बाद प्रार्थी ने 5 जुलाई 2004 को नामान्तरण खोलने के लिए डूंगरपुर तहसीलदार को प्रार्थना पत्र पेश किया था लेकिन  रेवेन्यु बोर्ड में मामला लंबित होने का हवाला देते हुए तहसीलदार ने नामान्तरण नही खोला था | इस बीच 13 जून 2017 को राज्यसभा सांसद हर्षवर्धन सिंह ने अपने प्रभाव से कूट रचित दस्तावेज तैयार कर तत्कालीन डूंगरपुर तहसीलदार, मांडवा खापरडा पटवारी, सरपंच और ग्राम सचिव से मिलीभगत कर उक्त 40 बीघा जमीन का नामान्तरण अपने नाम खुलवा लिया था | इसी मामले में पीड़ित सलीम  ने मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कोर्ट ने इस्तागासा  दिया था | उसी इस्तगासे पर कोतवाली थाना पुलिस ने राज्यसभा सांसद हर्षवर्धन सिंह व तत्कालीन डूंगरपुर तहसीलदार, मांडवा खापरडा पटवारी, सरपंच और ग्राम सचिव के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है | वही मामले की जांच अब सीआईडी सीबी करेगी |

<iframe width=\”560\” height=\”315\” src=\”https://www.youtube.com/embed/6IIamOCM8ec\” title=\”YouTube video player\” frameborder=\”0\” allow=\”accelerometer; autoplay; clipboard-write; encrypted-media; gyroscope; picture-in-picture\” allowfullscreen></iframe>

Advertisement

Related Posts

Latest News

सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां
गलियाकोट। सिलोही में छह मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर तीसरे दिन शनिवार को श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर दो श्री...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Latest News

Advertisement

Live Cricket