गुरु पूर्णिमा पर कथा वाचक कमलेश भाई शास्त्री ने कहा कि “जिनके जीवन मे गुरु नही उसका जीवन व्यर्थ है।”

On

सागवाड़ा। सागवाड़ा उपखंड में आज आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के पर्व के रूप में मनाया जा रहा है। इस दिन महर्षि वेदव्यास का जन्म हुआ था इसलिए इसे व्यास पूर्णिमा भी कहते है। गुरु पूर्णिमा को लेकर सागवाड़ा उपखंड के कई मंदिरों और आश्रमो में विविध अनुष्ठान हो रहे है। क्षेत्रवासी आज के दिन शिष्य अपने गुरु की विशेष पूजा करते है। शिष्य आज अपने गुरुओं को यथाशक्ति दक्षिणा, पुष्प, वस्त्र आदि दक्षिणा के रूप में भेंट देते है। वही आज खड़गदा के कथावाचक कमलेश भाई शास्त्री ने क्षेत्रवासियों को गुरु पूर्णिमा की शुभकामनाएं व बधाई दी। साथ ही शास्त्री जी ने आमजन को आज के दिन का महत्व बताया। उन्होंने कहा कि आज समस्त ब्रह्मांड के लिए एक वैश्विक महोत्सव है आज का दिन सारे जगत की सारी कोमो के लिए गुरु पूर्णिमा जैसा उत्साहित दिन कभी मिलता नही है बारह महीनों में एक बार आती है गुरु पूर्णिमा। इस दौरान कमलेश भाई शास्त्री ने क्षेत्रवासियों को बधाई देते हुए कहा कि जिनके जीवन मे गुरु नही है उनका जीवन शुरू ही नही है। जीवन मे किसी ना किसी गुरु का होना आवश्यक होता है। बिना गुरु के जीवन व्यर्थ है।

Advertisement

Latest News

सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां सिलोही में मूर्ति स्थापना एवं शिखर प्रतिष्ठा महोत्सव, श्रद्धालुओं ने हवन में समर्पित की आहुतियां
गलियाकोट। सिलोही में छह मंदिरों की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर तीसरे दिन शनिवार को श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर दो श्री...

Advertisement

आज का ई - पेपर पढ़े

Advertisement

Advertisement

Latest News

Advertisement

Live Cricket

वागड़ संदेश TV